श्रीयादे माता की जयंती पर निकाली गई शोभायात्रा

0
16

प्रजापति मंथन : चित्तौड़गढ (राज.) प्रजापत समाज की कुलदेवी भक्त शिरोमणी श्रीयादे माता की जयंती 11 फरवरी को मनाई। श्रीयादेमाता की जयंती पर शोभायात्रा रविवार सुबह 8.30 बजे शहरके पाडनपोल से आरती के बाद शुरू हुई, जो मिठाई बाजार गांधी चौक, सदर बाजार होते हुए गोल प्याऊ चौराहा पर पहुंची। जहां डीजे पर बज रहे भजनों व गीतों की प्रस्तुतियां के साथ सिर पर मंगल कलश धारण किए महिलाएं चल रही थीं तो बड़ी संख्या में जयकारे लगाते व नृत्य करते हुए युवतियां भी शामिल हुईं।

शोभायात्रा के साथ में श्रीयादे माताजी की प्रतिमा बग्घी मे विराजित थीं। जिन पर चंवर ढुलाए जा रहे थे। शोभायात्रा गोल प्याऊ चौराहा से सुभाष चौक, किला रोड, ओछड़ी गेट, त्रिपोलिया हनुमानजी चौराहे सहित प्रमुख मार्गों से होते हुए प्रजापत समाज के गांधीनगर स्थित सामुदायिक भवन पहुंची। लाल चुनर एवं पुरुषों ने सफेद वस्त्र पहने हुए थे। गांधीनगर स्थित समाज के सामुदायिक भवन में महाआरती हुई। इसमें विधायक चन्द्रभानसिंह आक्या, प्रजापत समाज के संभागीय अध्यक्ष भोलाराम प्रजापत, जिलाध्यक्ष बगदीराम प्रजापत, पूर्व सभापति सुशील शर्मा, उपभोक्ता भंडार चेयरमैन सुरेश झंवर, राजन माली सहित समाज के वरिष्ठ मोतीलाल ईणिया, मांगीलाल समिंदिया, प्रहलाद नागा सहित बड़ी संख्या में समाजजन मौजूद रहे।


गंगरार 11 फरवरी को गोवलिया में शोभायात्रा निकालकर प्रजापत समाज की आराध्य कुल देवी मैया श्री श्रीयादे माता जी की जयंती मनाई। गोवलिया प्रजापत समाज के अध्यक्ष लक्ष्मण प्रजापत ने बताया कि जयंती के दौरान बालू प्रजापत, कन्हैयालाल, कैलाश, लोकेश नारायण, सुरेश नारायण, एवं समाज के वरिष्ठ जन और ग्रामवासी उपस्थित रहे।