दूधाखेड़ी में मालवी प्रजापति समाज का चतुर्थ सामूहिक विवाह सम्मेलन 22 अप्रैल को हुआ आयोजित

10 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

0
162

प्रजापति मंथन : दुधाखेड़ी/मंदसौर (म.प्र.) मालवी प्रजापति समाज का चतुर्थ सामूहिक विवाह सम्मेलन मंदसौर जिले के दुधाखेड़ी में आयोजित किया गया। जिसमें 10 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। सम्मेलन में आस-पास के जिलों मंदसौर, नीमच, रतलाम, झालावाड़, कोटा सहित आस-पास के गांवो से बड़ी संख्या में समाज बंधु शामिल हुए। मुख्य अतिथि के रूप में श्री शनिधाम आश्रम मिश्रोली के गुरू रामनारायण जी महाराज और क्षेत्रीय विधायक चंदर सिंह सिसोदिया शामिल हुए जिन्होने वर-वधुओं को सुखमय जीवन जीने का आशीर्वाद दिया।
सामूहिक विवाह समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि सम्मेलन का आयोजन दिन में रखा गया। जिसमें प्रात: 8 बजे तक जोड़ों का आगमन हुआ। इसके पश्चात कलश यात्रा (गंगाचरी) निकाली गई जिसमें दूल्हा-दूल्हन भी शामिल रहे। कलशयात्रा के दौरान दुल्हा-दुल्हनों के लिए ट्रेक्टर में बेठने की व्यवस्था की गई। जिसमें समाजबंधुओं सहित बड़ी संख्या में महिलायें शामिल हुई।


इसके पश्चात विवाह स्थल पर कार्यक्रम में पधारे अतिथियों का समिति के पदाधिकारियों द्वारा फूल मालाओं के साथ स्वागत किया गया। विशिष्ठ अतिथियों में किसान संघ प्रदेश उपाध्यक्ष सीताराम प्रजापति, झालावाड़ महासंघ जिलाध्यक्ष मोहन लाल सांगरिया, प्रजापति मंथन संपादक प्रहलाद प्रजापति सहित विभिन्न समितियों के पदाधिकारी मंचासीन रहे। जिन्होने समाज को संगठित कर समय के साथ तरक्की के रास्ते पर आगे बढ़ाने का संदेश दिया। संबोधन के बाद वर-वधुओं को आशीर्वाद दिया। सामूहिक सम्मेलन का संचालन रामलाल प्रजापति सगोरिया, धनराज चौहान भानपुरा एवं राजू चंगेरी नीमच ने किया। सम्मेलन के सफल आयोजन पर सामूहिक सम्मेलन के अध्यक्ष भवानी शंकर प्रजापति एवं सचिव राजमल प्रजापति द्वारा कार्यक्रम के दौरान दूधाखेड़ी के पदाधिकारियों को सम्मानित करते हुए इस भव्य आयोजन को सफल बनाने के लिए बधाई शुभकामनाएँ दी गई। सम्मेलन में पधारे सभी समाजजन काफी खुश और उत्साहित नजर आये।