झालावाड़। मिनी सचिवालय सभागार में कोविड-19 की बैठक में उपस्थित अधिकारी।

प्रजापति मंथन :झालावाड़। जिले में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर सरकार द्वारा जारी गाइड लाईन की पालना सुनिश्चित कराने हेतु नियुक्त प्रभारी अधिकारियों, प्रमुख अस्पतालों एवं क्वारंटीन सेंटर्स के अधिकारियों के साथ अतिरिक्त जिला कलक्टर दाताराम की अध्यक्षता में रविवार को मिनी सचिवालय के सभागार में कोविड-19 के समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

अस्पतालों में बेड्स व ऑक्सीजन की उपलब्धता का निरीक्षण करें

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर ने प्रभारी अधिकारियों को राज्य सरकार द्वारा जारी गाइड लाईन की जानकारी देते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किए। उन्होंने कहा कि अस्पतालों व क्वारंटीन सेन्टर में उपलब्ध बेड्स व ऑक्सीजन की उपलब्धता से संबंधित सूचना दिन में तीन बार अपलोड की जाएगी। उन्होंने कहा कि निजी चिकित्सालयों में उपलब्ध बैड्स एवं आक्सीजन के संबंध में नियुक्त प्रभारी अधिकारी प्रतिदिन निरीक्षण कर सत्यापन किया जाना सुनिश्चित करें।

आक्सीजन की आवश्यकता का आकलन करें

अतिरिक्त जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में प्रत्येक चिकित्सालय के लिए प्रभारी अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रभारी अधिकारी प्रतिदिन मरीजों की संख्या की जानकारी अपडेट रखें। साथ ही यह सुनिश्चित करें कि कोविड-19 के वार्ड पृथक से हो तथा उन्हें सामान्य मरीजों के साथ भर्ती नहीं किया जाए। भर्ती मरीजों में कितने मरीजों को ऑक्सीजन की आवश्यकता है, इसका आकलन करें। प्रतिदिन यह सुनिश्चित करें कि कितने ऑक्सीजन सिलेण्डर उपलब्ध हैं एवं कितने खाली हैं, इसकी सूचना प्रतिदिन जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय को भिजवाएं।

नून हॉस्पिटल का प्रतिदिन निरीक्षण करें

उन्होंने उपखण्ड अधिकारी एवं ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी भवानीमण्डी को निर्देशित किया कि प्रतिदिन नून हॉस्पिटल का निरीक्षण कर आवश्यक व्यवस्थाएं देखें। अतिरिक्त जिला कलक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि आवश्यकता होने पर अन्य भवनों को अधिग्रहण किए जाने हेतु अवगत कराएं ताकि अधिग्रहण की कार्यवाही की जा सके।

क्वारंटीन केन्द्रों पर सफाई व माइक्रो कन्टेन्मेंट जोन की व्यवस्था देखें

उन्होंने नगर परिषद् आयुक्त एवं अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका झालरापाटन को क्वारंटीन केन्द्रों पर आवश्यक सफाई एवं माइक्रो कन्टेन्टमेन्ट जोन की व्यवस्था हेतु निर्देशित किया। अतिरिक्त जिला कलक्टर ने जिला परिवहन अधिकारी को गाइड लाइन की पालना करवाने तथा उसका उल्लंघन करने पर बसों व जीपों के चालान काटने हेतु निर्देशित किया।

विवाहों की सूचना प्राप्त कर आयोजकों को पाबंद करें

अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक को निर्देशित किया गया कि कोविड गाइड लाईन के अनुसार जिले में आयोजित होने वाले विवाहों की सूचना संबंधित उपखण्ड मजिस्टेªटों से प्राप्त कर विवाह के आयोजकों को पाबंद करें। जिला कलक्टर ने शवों को नियत स्थान पर पहुंचाने के लिए जिला पूल प्रभारी को एम्बुलैंस एवं एक-एक यात्री व माल वाहक वाहन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

आर्थिक सहायता के लिए आगे आएं भामाशाह एवं दानदाता

उन्होंने कहा कि जिले के जो भी भामाशाह या दानदाता कोविड-19 महामारी से ग्रसित मरीजों के लिए काम में आने वाले ऑक्सीजन कन्सन्टेशन यंत्र या भोजन के लिए आर्थिक सहायता करना चाहता है तो वह जिला कलक्टर कार्यालय या संबंधित उपखण्ड अधिकारी कार्यालय में आकर मदद दे सकते है।

घर-घर सर्वे करवाकर मरीजों के इलाज की व्यवस्था करें

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार यादव ने कहा कि जो मरीज ठीक हो रहे हैं उन्हें कोविड केयर सेन्टर में शिफ्ट किया जाए। स्थानीय निकाय संबंधित मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की टीम के निर्देशानुसार घर-घर सर्वे कराएं ताकि मरीेजों का इलाज करने में सुविधा हो सके। उन्हें घरों में ही उपचार उपलब्घ कराया जाए ताकि अनावश्यक रूप से चिकित्सालयों में भीड़ ना हो।

जिले की सीमा पर किए 10 नाके स्थापित

उन्होंने कहा कि जिले की सीमा पर 10 नाके स्थापित किए गए हैं। बकानी में गोगटपुर रोड़, अकलेरा में सरहदी नाका, मनोहरथाना में चौकी महाराजपुरा एवं दांगीपुरा, रायपुर में थाने के सामने, भवानीमण्डी में छत्रपुरा व सिलेहगढ़, गंगधार में आलोट रोड़ एवं सकरिया फाटक तथा डग में चौकी दुधालिया नाके स्थापित किए गए हैं।

बैठक में उपखण्ड अधिकारी झालावाड़ मुहम्मद जुनैद, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. साजिद खान, एसआरजी चिकित्सालय के अधीक्षक संजय पोरवाल, जिला परिवहन अधिकार समीर जैन, महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक महेश चन्द गुप्ता, उद्यानिकी एवं वानिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता आई.बी. मोर्य, अधिशाषी अभियंता राजेन्द्र निमेष, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक गौरीशंकर मीना सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।